F

Breaking News

कोरोना से चीन में हुई अमरीका से भी अधिक मौतें, डोनाल्ड ट्रंप का दावा


अमरीकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने दावा किया है कि चीन में कोरोना वायरस के कारण मरने वालों की संख्या असल में कहीं अधिक है.
शुक्रवार को एक ट्वीट कर उन्होंने कहा, "इस अज्ञात शत्रु से होने वाली मौतों का आंकड़ा चीन अचानक बढ़ा कर दोगुना कर दिया है. लेकिन ये इससे कहीं अधिक है, ये अमरीका में हो रही मौतों के आंकड़े से भी कहीं अधिक है."
इससे पहले शुक्रवार को चीन के हुबे प्रांत के वुहान में अधिकारियों ने कोविड -19 से होने वाली मौतों के आंकड़े को 50 फीसदी तक बढ़ा दिया था.
अधिकारियों के अनुसार और 1,290 मौतें कोरोना वायरस के कारण हुई हैं. इसके साथ ही हुबे में मौतों का आंकड़ा कुल 3,869 तक पहुंच गया और चीन के लिए ये आंकड़ा 4,600 तक पहुंच गया है.
अधिकारियों का कहना है कि जेलों और मुर्दाघरों में मौतों के संबंध में रखी गई रिपोर्टों से जो नया डेटा मिला है उसी के आधार पर नए आकड़े जारी किए गए हैं.
जॉन्स हॉप्किन्स यूनिवर्सिटी के अनुसार चीन नए अब तक करीब कोरोना संक्रमण के 84,000 मामलों की पुष्टि की है.

चीन में हुई कम मौतों के दावे पर सवाल

बीबीसी के चीन संवाददाता स्टीफ़न मैकडॉनल कहते हैं कि वुहान में होने वाली मौतों का आंकड़ा दोगुना बढ़ा कर चीन ने विश्लेषकों को चिंता में डाल दिया है.
बीते कई सप्ताह से चीन के आधिकारिक आंकड़ों के बारे में सवाल पूछे जाते रहे हैं. अब तक अनुमान ये लगाया जा रहा था कि अपने शहरों और कस्बों में इमर्जेंसी का बेहतर प्रबंधन कर मौतों को कम करने में सफलता दिखाने के लिए चीनी अधिकारियों ने जान बूझकर आकड़ों के बारे में सच नहीं बताया होगा.
लेकिन ऐसा होता भी है तो चीनी अधिकारियों को इस बात की जानकारी नहीं होती कि दूसरे देशों में यह संकट कितना व्यापक रूप ले चुका है.
वुहान के अधिकारियों का कहना है कि उन्होंने इस बारे में जानबूझकर कोई गलत ब्योरा नहीं दिया, बल्कि यहां हालत सुधरने के बाद उन्होंने एक बार फिर सभी मामलों के बारे में जानकारी जुटाई है.
लेकिन चीन में मौतों के आंकड़ों की ख़बर ऐसे वक्त आई है जब वहां के आर्थिक विकास के आंकड़ों में गिरावट की घोषणा हुई. इस कारण कुछ जानकारों का मानना है कि हो सकता है कि चीन जानबूझकर ये ख़बर छिपाना चाहता हो. हालांकि ये पूरी तरह मात्र एक संयोग भी हो सकता है.
गुरुवार को चीन ने अर्थव्यवस्था पर कोरोना के प्रभाव से संबंधित आधिकारिक तौर पर आंकड़े जारी किए हैं. वर्ष 2020 के पहली तिमाही में चीन की जीडीपी में 6.8 फ़ीसदी की गिरावट देखी गई है.
सरकारी आंकड़ों के मुताबिक़, बीते तीन दशकों में ऐसा पहली बार हुआ है जब चीन की अर्थव्यवस्था में गिरावट आई है.
इमेज कॉपीरइ

No comments